Wednesday, July 24, 2024
Google search engine
HomeLifestyleHealth & Fitnessदिल्ली में गर्मी से पहली मौत, ये 4 लक्षण हैं खतरे की...

दिल्ली में गर्मी से पहली मौत, ये 4 लक्षण हैं खतरे की घंटी, दिखते ही डॉक्टर के पास जाएं

Google search engine

Heat wave in India: दिल्ली में हीटवेव के कारण हीटस्ट्रोक के मामले देखने को मिल रहे हैं। इसके साथ ही इस साल दिल्ली में हीट स्ट्रोक से पहली मौत भी दर्ज की गई है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए इन खतरनाक लक्षणों पर नजर रखें।

दिल्ली का तापमान जानलेवा

गर्मी और बढ़ता तापमान अब मजाक नहीं रहा। बिहार के दरभंगा जिले के 40 वर्षीय व्यक्ति की दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गई। TOI की एक रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में बढ़ते तापमान से जूझने के बाद एक फैक्ट्री कर्मचारी की हीटस्ट्रोक से मौत हो गई। इस साल हीटस्ट्रोक से दिल्ली में यह पहली मौत है।

Heat wave in India: 107 डिग्री तक गर्म हो गया था शरीर

TOI की एक रिपोर्ट के अनुसार, इलाज करने वाले डॉक्टर के अनुसार, व्यक्ति बिना कूलर या पंखे वाले कमरे में रह रहा था, जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। उसके शरीर का तापमान 107 डिग्री फारेनहाइट तक बढ़ गया, जो सामान्य सीमा से काफी अधिक था और जानलेवा साबित हुआ।

हीटवेव और हीट स्ट्रोक क्या है?

लंबे समय तक अत्यधिक उच्च तापमान की स्थिति को हीटवेव कहा जाता है, जो जलवायु परिवर्तन के कारण आम होता जा रहा है। वहीं, जब शरीर अपने तापमान को नियंत्रित नहीं कर पाता है, तो उसे हीटस्ट्रोक कहा जाता है।

Heat wave in India: हीटस्ट्रोक का पहला लक्षण

हीटस्ट्रोक के शुरुआती लक्षणों में से एक बुखार है। इसमें त्वचा असामान्य रूप से गर्म महसूस होती है, जिसके साथ अक्सर लालिमा और चकत्ते भी होते हैं।

तेज़ दिल की धड़कन

हीटस्ट्रोक के कारण दिल की धड़कन तेज़ हो जाती है। क्योंकि यह शरीर के बढ़े हुए तापमान को नियंत्रित करने की कोशिश करता है।

Heat wave in India: सिरदर्द

अगर आपको सिर में बजने जैसा दर्द या धड़कन महसूस हो, तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएँ। अत्यधिक गर्मी के कारण मस्तिष्क ऐसा करने लगता है। यह सिरदर्द अक्सर गर्मी के कारण होने वाले खतरनाक परिणामों का पहला संकेत हो सकता है।

चक्कर आना

अत्यधिक गर्मी में शरीर रक्तचाप और रक्त परिसंचरण को नियंत्रित करने की कोशिश करता है, जिससे चक्कर या चक्कर आ सकते हैं। इससे बेहोशी या संतुलन बिगड़ सकता है, जिससे गिरने और चोट लगने का खतरा बढ़ सकता है।

Heat wave in India: पानी और रसीले फल पीते रहें

CDC के अनुसार, गर्मियों में स्वस्थ रहने का सबसे अच्छा तरीका है हाइड्रेटेड रहना। इसलिए

पर्याप्त पानी पीते रहें। स्पोर्ट्स ड्रिंक और नारियल पानी खोए हुए इलेक्ट्रोलाइट्स की पूर्ति करते हैं।

शराब और कैफीन से बचें। अपने आहार में तरबूज और संतरे जैसे रसीले फल शामिल करें। छाछ

और पुदीना शरीर को ठंडा रखने में मदद करेंगे।

इससे बचने के लिए ये काम करें

सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे के बीच बाहर जाने या भारी शारीरिक गतिविधि करने से बचें।

यह दिन का सबसे गर्म समय होता है। अगर आपको बाहर जाना ही है, तो छाया में खड़े रहें,

ढीले कपड़े पहनें। अपने सिर और शरीर को पूरी तरह से ढक कर रखें। इसके लिए टोपी, धूप

का चश्मा और छाता का इस्तेमाल करें। घर के अंदर कूलर, पंखे और एसी का इस्तेमाल करें।

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments