Monday, July 22, 2024
Google search engine
HomeEntertainmentAll About FlimsBhojpuri Cinema: अरविन्द अकेला कल्लू के नवका गाना के बारे में जानिए,...

Bhojpuri Cinema: अरविन्द अकेला कल्लू के नवका गाना के बारे में जानिए, ‘कइसे लइका भइल’

Google search engine

Arvind Akela Kallu: भोजपुरी गाना कैसे लइका भईल के बोल रोशन सिंह विश्वाश ने लिखे हैं। वहीं, म्यूजिक प्रियांशु सिंह ने तैयार किया है। इस गाने के वीडियो में खुद अरविंद अकेला कल्लू ने भी एक्टिंग की है. भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार सिंगर माने जाने वाले अरविंद अकेल कल्लू का एक गाना इन दिनों खूब धूम मचा रहा है.

गाना इतना शानदार है कि लोगों के बीच लोकप्रिय हो गया है. ये गाने हर जगह सुने जा सकते हैं. खासकर जहां भोजपुरी सुनने और बोलने वाले लोग रहते हैं. वहां कल्लू का गाना ‘गरदा उड़ा रख’ बजता है. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर वो कौन सा गाना है जिसने तहलका मचा दिया है और फिर भी हम नहीं जानते या नहीं सुना तो आइए इस आर्टिकल में कल्लू के धमाकेदार गाने के बारे में जानने की कोशिश करते हैं.

Solar Eclipse: सोमवती अमावस्या पर सूर्य ग्रहण, पितर होगे खुश

Arvind Akela Kallu:धमाल भी मचा रहा है

अरविंद अकेल कल्लू का भोजपुरी गाना ‘कैसे लइका भइल है’ न सिर्फ जबरदस्त है

बल्कि धमाल भी मचा रहा है। इस गाने को कल्लू ने अकेले गाया है. कैसे लइका भईल भोजपुरी

गाना यूट्यूब के VYRL भोजपुरी चैनल पर रिलीज किया गया है। इस गाने को बुधवार

3 अप्रैल 2024 को यूट्यूब पर अपलोड किया गया है.

म्यूजिक प्रियांशु सिंह ने तैयार किया है

भोजपुरी गाना ‘कैसे लइका भइल’ के बोल रोशन सिंह विश्वाश ने लिखे हैं। वहीं,

म्यूजिक प्रियांशु सिंह ने तैयार किया है। वहीं, अरविंद अकेला कल्लू के इस गाने के वीडियो पर कमेंट

सेक्शन में यूजर्स अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. एक यूजर ने लिखा कि सुपर स्टार कल्लू जी का

सुपरहिट गाना, जिनकी आवाज लाखों दिलों पर राज करती है. एक अन्य यूजर ने लिखा

कि हंगामा गाना है. एक अन्य यूजर ने इस मामले पर कमेंट करते हुए लिखा, ‘बोला ना भौजी लइका कैसे भईल.

Google search engine
RELATED ARTICLES

3 COMMENTS

  1. […] स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने कहा- इन सबके ब… आंतों की बीमारियों से होने वाली मौतों में काफी सुधार हुआ है. इन सुधारों के कारण 1990 और 2021 के बीच दुनिया भर में जीवन प्रत्याशा में 1.1 वर्ष की वृद्धि हुई। इसके अलावा, कम श्वसन संक्रमण के कारण होने वाली मौतों में भी कमी दर्ज की गई है। […]

  2. […] कांग्रेस ने वायनाड में राहुल गांधी की रैली में अपनी पार्टी और सहयोगी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML) के झंडे का इस्तेमाल नहीं करने का फैसला किया था। इस फैसले को लेकर बीजेपी और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई-एम) ने कांग्रेस पर निशाना साधा. कांग्रेस पर हमला बोलते हुए सीपीआई (एम) ने आरोप लगाया कि रैली में झंडों का इस्तेमाल नहीं किया गया क्योंकि कांग्रेस बीजेपी से डरती थी. वहीं, बीजेपी ने दावा किया कि ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि गांधी IUML द्वारा शर्मिंदा थे. बीजेपी ने उनसे कहा कि वह कांग्रेस से समर्थन न लें. कांग्रेस ने आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि सीपीआई (एम) और बीजेपी करीबी दोस्त बन गए हैं. उन्होंने कहा कि चुनाव प्रचार के लिए उन्हें किसी से ट्र… […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments